लुटेरी महिलाओं का गैंग का पदार्फाश, भागवत कथा की भीड़ में बनाते थे अपना शिकार - cg

Breaking

लुटेरी महिलाओं का गैंग का पदार्फाश, भागवत कथा की भीड़ में बनाते थे अपना शिकार


बिलासपुर । पुलिस ने लुटेरी महिलाओं के एक गैंग को पकड़ा है। गैंग की महिलाएं ध्यान भटकाकर पलक झपकते ही गले से सोने की चैन काट लेते थे। गिरोह के सदस्य भागवत कथा की भीड़ में महिलाओं को अपना शिकार बनाते थे। मामले का विवरण इस प्रकार है कि जयपाल टावर्स, साकेत अपार्टमेन्ट अग्रसेन चौक निवासी महिला ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि 9 अप्रैल के दोपहर करीब 1:15 बजे अग्रसेन चौक से सवारी आटो में बैठी, थोडा आगे जाने पर काली साडी पहनी महिला अन्य साथियो के साथ बस स्टेण्ड जाने के लिए बैठ गयी। उसमे से एक महिला ने प्रार्थीया को धक्का मारकर साईड करते हुए उसके पैर के पंजे को अपने पंजे से दबाई। 

जिससे प्रार्थीया का घ्यान अपने पैरों के तरफ गया ठीक उसी समय दुसरी महिला उल्टी करने का बहाना की और ध्यान हटते ही तीसरी महिला ने उसके गले से सोने की चैन को काटकर चोरी कर लिया। उसके बाद सभी महिलाये पुराना बस स्टैण्ड में उतर गई। प्रार्थीया उसी आटो में बैठकर अपने दुकान श्याम टाकिज पहूची और दुकान में पहूचने पर देखी कि गले में सोने की चैन और लाकेट वजनी करीब 17 ग्राम चोरी हो गया है तब उस महिलाओ के उपर शंका होने पर सिविल लाईन में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसी प्रकार चडडा बाडी नेहरू नगर निवासी महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई की वह अपनी सहेली के साथ मगरपारा से आटो लेकर गोलबजार की ओर जाने के लिये निकली थी। उसी दौरान मगरपारा चौक के पास अज्ञात महिलाये आटो में बैटी व प्रार्थीया के साथ उसी प्रकार पैर को दबाकर धक्का मारकर प्रार्थीया का ध्यान भटकाया और महिलाओं के गिरोह ने प्रार्थीया के गले से 22 ग्राम की सोने की चैन को चोरी कर लिया। प्रार्थीया जब बाजार पहूची तो अपना गला चेक करने पर पता चला कि सोनी की चैन चोरी हो गई है जिसकी रिपोर्ट सिविल लाईन में दर्ज कराई थी।

 उक्त दोनो प्रकरणों के संबंध में तत्काल पुलिस अधीक्षक राजनेश सिंह को अवगत कराया गया। जिनके द्वारा आरोपीयों को तत्काल गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए। अज्ञात आरोपीयों के पतातलास हेतु थाना सिविल लाईन एवं एसीसीयू से अलग अलग टीमो का गठन किया गया। जिनके द्वारा आरोपीयों की पता तलास हेतु संदिग्ध स्थानों बस स्टेण्ड, डेरों व रेलवे स्टेशन को चेक करने हेतु कई टीमे भेजी गई। जिन्हे संदेही बिन्दु बाई मिली जिससे पुछताछ करने पर घटना को अपने अन्य 07 साथियों के मिलकर घटित करना स्वीकार किया।

पुलिस ने 02 नग सोने की चैन को बरामद किया है और आरोपीयों को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, जहां से सभी को रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। पकड़े गए सभी निवासी, ग्राम सिघरा नई बस्ती थाना झुसी जिला इलाहाबाद यूपी के है। प्रकरण की सफलता पर एसपी रजनेश सिंह द्वारा थाना सिविल लाईन व एसीसीयू टीम के प्र.डी.एस.पी.ठाकुर गौरव सिंह निरीक्षक प्रदीप कुमार आर्य, सहायक उपनिरीक्षक मीना ठाकुर, अमृत साहू, अवधेश सिंह, राजेशधर दीवान, प्रधान अरक्षक देवमून पहूप, आरक्षक निखिल जाधव, बोधूराम, अतुल सिंह, अविनाश काश्यप, आशीष राठौर, महिला आरक्षक छंदा वैष्णव, ओम वैष्णव, प्रिति वर्मा, आशा नेताम, सुनीता मण्डावी, हेमलता उरांव की प्रशंशा की है।

पकड़े आरोपियों का नाम

0 बिन्दु देवी पति संजय कुमार उम्र 35 वर्ष
0 रिता देवी पति सुनील कुमार उम्र 40 वर्ष
0 श्रीमति पूजा देवी पति विनोद कुमार उम्र 30 वर्ष
0 प्रिति देवी पति आजाद कुमार उम्र 22 वर्ष
0 अनिता देवी पति संजय कुमार उम्र 25 वर्ष
0 सविता देवी पति अजय कुमार उम्र 21 वर्ष
0 शालू पिता संजय उम्र 19 वर्ष
0 आरती कुमारी पिता सुनील कुमार उम्र 20 वर्ष,